1125 HAIGAS PUBLISHED TILL TODAY(04.09.15)......आज तक(04.09.15) 1125 हाइगा प्रकाशित Myspace Scrolling Text Creator

यदि आप अपने हाइकुओं को हाइगा के रूप में देखना चाहते हैं तो हाइकु ससम्मान आमंत्रित हैं|

रचनाएँ hindihaiga@gmail.com पर भेजें - ऋता शेखर मधु

Wednesday, 30 November 2011

सब्जियों की बहार- हाइगा में

इस बार हरी-ताज़ा सब्जियों ने घेराव कर दिया और हाइगा में उतरने के लिए मचलने लगीं| लेते हैं सब्जियों का स्वाद विज्ञान के साथ- हाइगा में
१२स्लाइड्स-३४ हाइकु












सारे चित्र गूगल से साभार

Thursday, 24 November 2011

प्रदूषण का कहर-हाइगा में

धरती से लेकर अंतरिक्ष तक कोई भी स्थान ऐसा नहीं जो प्रदूषण से त्रस्त न हो| इस प्रदूषण को देखते हैं हाइगा की नजर से-११ स्लाइड्स










सारे चित्र गूगल से साभार

Friday, 18 November 2011

जाड़े की रात-हाइगा में

ठंढ ने अपने पाँव पसार लिए हैं|
इस ठंढ को हाइगा में देखें तो कैसा लगेगा-देखते हैं|
१२ स्लाइड











सारे चित्र गूगल से साभार

Friday, 11 November 2011

‘‘ऑरिजिनल हाइगा’’

आज मै स्वनिर्मित कृतियों पर हाइगा प्रस्तुत कर रही हूँ|
1.यह वुड का बना टेलीफोन स्टैंड है| इसके बैक पर पेंटिंग के जरिए राजस्थानी बाला एवं वहाँ की पृष्ठभूमि को उतारा है| इसके बेस पर उसी पृष्ठभूमि का प्रतिबिंब अंकित करने की कोशिश की है|
-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-


 2.यह मिट्टी का पॉट है| इसपर एम.सील से मोर की आकृति उभारी है और उसपर पेन्ट किया है|
-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-

3.यह ड्राइ फ़्रूट्स का डलिया है, जिसके पीछे में दो मछलियाँ बनाई
है|-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-

4.यह निडल वर्क है| मैटी क्लॉथ पर माँ सरस्वती की तस्वीर बनाई है|
-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-  



 5.गत्ते से फ़ोटो फ़्रेम बनाकर सजाया है|
-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-

Tuesday, 8 November 2011

माँ, विद्या ही पूज्य

प्रियंका गुप्ता जी एवं शाम्भवी शील के हाइकुओं पर आधारित हाइगा-
प्रियंका गुप्ता जी के हाइगा-





शाम्भवी शील के हाइगा



सारे चित्र गूगल से साभार