1125 HAIGAS PUBLISHED TILL TODAY(04.09.15)......आज तक(04.09.15) 1125 हाइगा प्रकाशित Myspace Scrolling Text Creator

यदि आप अपने हाइकुओं को हाइगा के रूप में देखना चाहते हैं तो हाइकु ससम्मान आमंत्रित हैं|

रचनाएँ hindihaiga@gmail.com पर भेजें - ऋता शेखर मधु

Saturday, 22 September 2012

तेरा नाम करेगी रौशन-हाइगा में (डॉटर्स डे विशेष)

तेरा नाम करेगी रौशन
जग में तेरी राजदुलारी
अँगना में जब ठुमकेगी
मिलेंगी खुशियाँ न्यारी|










सारे चित्र गूगल से साभार

डॉटर्स डे पर २०११ की पोस्ट का लिंक

Tuesday, 18 September 2012

विघ्नहर्ता - हाइगा में

वक्रतुण्ड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभः|
निर्विघनम् कुरुमेदेव सर्वकार्येषु सर्वदा||





सारे चित्र गूगल से साभार

Thursday, 13 September 2012

हिन्दी हैं हम...-हाइगा में

भाषा-बगिया
देवनागरी-माली
हिन्दी-गुलाब
खिलता चला जाए
खुश्बू फैलाता जाए||





सारे चित्र गूगल से साभार

Sunday, 9 September 2012

भोथरा लोकतंत्र - हाइगा में

डॉ शैलेश गुप्त 'वीर' जी के हाइकुओं पर आधारित हाइगा
परिचय-

View photo in message
डॉ. शैलेश गुप्त ‘वीर’
      जन्म : 18.01.1981 (ग्राम-जमेनी, फतेहपुर)    
      शिक्षा : परास्नातक (प्राचीन इतिहास एवं पुरातत्व विज्ञान), बी.एड.,
            पी-एच.डी. (पुरातत्व विज्ञान), एम.जे.एम.सी.(पत्रकारिता एवं जनसंचार),         
            डिप्लोमा इन रसियन लैंग्वेज़, डिप्लोमा इन उर्दू लैंग्वेज़,
            ओरियन्टेशन कोर्स इन म्यूजियोलॉजी एण्ड कन्ज़र्वेशन।
      सन्दर्भ : उपसंपादक- गुफ़्तगू (त्रैमासिक), इलाहाबाद।
              कार्यकारी संपादक- तख़्तोताज (मासिक), इलाहाबाद।
              सहसंपादक- महोदधि (मासिक), कानपुर।
              अतिथि संपादक- पुरवार्इ (वार्षिक), बलिया।
              संरक्षक- रोशनी ब्यूज (त्रैमासिक), फतेहपुर।
      विधा : गीत, ग़ज़ल, कविता, क्षणिका, हाइकू, दोहे, लघुकथा, आलेख, आलोचना तथा
            शोधपत्र आदि।
      संपादन : ‘उन पलों में’ (रागात्मक कविता संकलन)
              ‘आर-पार’ (नयी कविता का संकलन)
              ‘कई फूल, कई रंग’(देष भर के पैंसठ रचनाकारों का संकलन)
               अन्वेषी-2007,अन्वेषी-2008, अन्वेषी-2009-10, अन्वेषी-2011-12
                  (संस्था ‘अन्वेषी’ के वार्षिकांक)
      प्रकाशन : हिन्दी और उर्दू के विविध पत्र-पत्रिकाओं, संकलनों तथा “ाोध संकलनों में।
      भाषा ज्ञान : हिन्दी, अग्रेंज़ी, संस्कृत, रूसी, गुजराती, उर्दू तथा भोजपुरी।
      सम्प्रति : अध्यक्ष-’अन्वेषी’, साहित्य एवं संस्कृति की प्रगतिशील संस्था, फतेहपुर।
      सम्पर्क : 24/18, राधा नगर, फतेहपुर (उ.प्र.)-212601
      वार्तासूत्र : 9839942005, 8574006355
      ईमेल :  doctor_shailesh@rediffmail.com






सारे चित्र गूगल से साभार


Tuesday, 4 September 2012

बरसो रे मेघा मेघा - हाइगा में

दिलबाग विर्क जी के हाइकुओं पर आधारित हाइगा










सारे चित्र गूगल से साभार