1125 HAIGAS PUBLISHED TILL TODAY(04.09.15)......आज तक(04.09.15) 1125 हाइगा प्रकाशित Myspace Scrolling Text Creator

यदि आप अपने हाइकुओं को हाइगा के रूप में देखना चाहते हैं तो हाइकु ससम्मान आमंत्रित हैं|

रचनाएँ hrita.sm@gmail.comपर भेजें - ऋता शेखर मधु

Friday, 28 June 2013

बैरागी मन - हाइगा में

डॉ नूतन डिमरी गैरोला जी के हाइकुओं पर आधारित हाइगा
परिचय








सारे चित्र गूगल से साभार

8 comments:

Kailash Sharma said...

बहुत सुन्दर हाइगा...

धीरेन्द्र सिंह भदौरिया said...

बहुत उम्दा,कमाल की हईगा प्रस्तुति ,,,बधाई

Recent post: एक हमसफर चाहिए.

ब्लॉग बुलेटिन said...

ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन काँच की बरनी और दो कप चाय - ब्लॉग बुलेटिन मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

डॉ. नूतन डिमरी गैरोला- नीति said...

dhanyvaad Rita madhu ji .. itne sundar tasweeron se haiga bahut suruchipurn banaa

Unknown said...

वाह बहुत सुंदर

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' said...

बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी इस प्रविष्टि की चर्चा आज शनिवार (29-06-2013) को कड़वा सच ...देख नहीं सकता...सुखद अहसास ! में "मयंक का कोना" पर भी है!
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

बहुत सुंदर ।

Unknown said...

बहुत सुन्दर हाइगा..