1125 HAIGAS PUBLISHED TILL TODAY(04.09.15)......आज तक(04.09.15) 1125 हाइगा प्रकाशित Myspace Scrolling Text Creator

यदि आप अपने हाइकुओं को हाइगा के रूप में देखना चाहते हैं तो हाइकु ससम्मान आमंत्रित हैं|

रचनाएँ hindihaiga@gmail.com पर भेजें - ऋता शेखर मधु

Thursday, 12 April 2012

बैसाखी और सतुआनी - हाइगा में

दिलबाग विर्क जी, खीवरेन्द्र विर्क जी एवं रविरंजन जी के हाइकुओं पर आधारित हाइगा
दिलबाग विर्क जी




खीवरेन्द्र जी


रवि रंजन जी


सारे चित्र गूगल से साभार

4 comments:

expression said...

बहुत सुंदर हायेकु............

आप सभी को बैसाखी की बधाइयाँ.
अनु

रविकर फैजाबादी said...

आज शुक्रवार
चर्चा मंच पर
आपकी उत्कृष्ट प्रस्तुति ||

charchamanch.blogspot.com

abhi said...

वाह :) सुन्दर..
अंतिम वाले में ककड़ी देख कर मज़ा आ गया ;)

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

बहुत सुन्दर प्रस्तुति!
आपका श्रम सराहनीय है!