1125 HAIGAS PUBLISHED TILL TODAY(04.09.15)......आज तक(04.09.15) 1125 हाइगा प्रकाशित Myspace Scrolling Text Creator

यदि आप अपने हाइकुओं को हाइगा के रूप में देखना चाहते हैं तो हाइकु ससम्मान आमंत्रित हैं|

रचनाएँ hindihaiga@gmail.com पर भेजें - ऋता शेखर मधु

Saturday, 15 December 2012

संगीता स्वरूप जी के हाइकुओं के साथ मेरी जुगलबंदी - हाइगा में

संगीता स्वरूप(गीत) जी के हाइकु उनके ब्लॉग '' बिखरे मोती'' से उठा लाई हूँ...ब्लॉग जगत में संगीता दी किसी परिचय की मोहताज नहीं... उनके हाइकुओं के साथ जुगलबंदी की कोशिश की है...हाइगा में देखिए !!





सारे चित्र गूगल से साभार

18 comments:

धीरेन्द्र सिंह भदौरिया said...

बहुत ही उत्कृष्ट हाइगा प्रस्तुति ,लाजबाब जुगल बंदी,,,,

recent post हमको रखवालो ने लूटा

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

ऋता जी ,

इतनी खूबसूरत प्रस्तुति के लिए मुझे तो शब्द ही नहीं मिल रहे .... आपकी जुगालबंदी कमाल की है और चित्रों ने तो जैसे बिना कहे ही सब कुछ कह दिया .... आभार

Anupama Tripathi said...

लाजवाब ....
आप दोनों को बधाई ...

Vibha Rani Shrivastava said...

बेजोड़ जुगलबंदी ... लाजबाब हाईगा ....

मैं तो निशब्द हूँ !!

मनोज कुमार said...

WAAH KYA SUNDAR YUGALABANDI HAI. JAMI RAHE!

Reena Maurya said...

वाह वाह वाह....
उत्कृष्ट जुगलबंदी....
लाजवाब.....
:-)

सहज साहित्य said...

हाइगा और ऊपर से जुगलबन्दी ! कया कहने ॠता जी !हाइगा के क्षेत्र में आपका यह योगदान हमेशा सराहा जाएगा । निरन्तर इस पथ पर बढ़े चलिए ऽनन्त शुभकामनाएँ !

प्रतिभा सक्सेना said...

दोनों ने मिलकर जो समाँ बाँधा है -किसकी तारीफ़ करूँ और कैसे !

Sadhana Vaid said...

संगीता जी आपके हाइकू और ऋता जी के हाइगा की जुगलबंदी दिल को तो सुकून दे ही रही है वह इतनी मनमोहक और नयनाभिराम है कि आँखों को भी ठंडक पहुँचा रही है ! इतनी उत्कृष्ट प्रस्तुति के लिये आप दोनों ही बधाई की पात्र हैं !

रश्मि प्रभा... said...

तानसेन और बैजू बावरा ....

Ramakant Singh said...

संगीता स्वरुप जी और रीता शेखर जी आप दोनों को इतने भावमय संयोजन के लिए बहुत बहुत बधाई .खुबसूरत चित्र संग .

Ravi Ranjan said...

हाइगा के क्षेत्र में इस प्रकार की युगलबन्दी युक्त रचना
काफी सराहनीय एवं आकर्षक है|
यह प्रयास इस क्षेत्र में मील का पत्थर साबित होगा|
बधाई..

vandana gupta said...

वाह वाह बेहतरीन जुगलबंदी…………आप दोनो को बधाई।

देवेन्द्र पाण्डेय said...

वाह! कमाल की जुगलबंदी। चित्रों से हाइकू की, हाइकू से हाइकू की।

Mukesh Kumar Sinha said...

kisi bhi product ki packing uska value double kar deti hai.. kuchh aisa hi hai na ye HAIGA....
Sangeeta di ke haiku me naya maja mixup kar ke parosa hai aapne...
SHAANDAAR:)

वाणी गीत said...

कमाल की जुगलबंदी !

shikha varshney said...

एक से बढ़कर एक कमाल की जुगलबंदी ..शब्दों की भी चित्रों की भी.

NAVIN C. CHATURVEDI said...

बहुत सुंदर जुगलबंदी है, बहुत ख़ूब। दौनों रचनाधर्मियों को बहुत-बहुत बधाइयाँ।