1125 HAIGAS PUBLISHED TILL TODAY(04.09.15)......आज तक(04.09.15) 1125 हाइगा प्रकाशित Myspace Scrolling Text Creator

यदि आप अपने हाइकुओं को हाइगा के रूप में देखना चाहते हैं तो हाइकु ससम्मान आमंत्रित हैं|

रचनाएँ hrita.sm@gmail.comपर भेजें - ऋता शेखर मधु

Sunday, 29 January 2012

गाँधी जी की पुण्यतिथि-हाइगा में

बापू,आइए
सत्य अहिंसा प्यार
समझाइए|



सारे चित्र गूगल से साभार

8 comments:

अशोक सलूजा said...

आप के सुंदर भावो द्वारा बापू को विन्रम श्रद्धांजलि...
शुभकामनाएँ!

virendra sharma said...

कहीं नहीं खोये हैं ये बन्दर रूप बदलके दिग्विजय हो गएँ हैं .

vidya said...

बहुत अच्छी रचना...
मेरी भी विनम्र श्रद्धांजलि बापू को...

आपको नमन इस सार्थक पोस्ट के लिए.
सस्नेह.

रेखा said...

मेरी तरफ से बापू को भावभीनी श्रधांजलि ....
सटीक प्रस्तुति .

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' said...

बहुत सुन्दर प्रस्तुति!

Ravi Ranjan said...

आपने अनूठे अंदाज में बापू को हाइगा में विन्रम श्रद्धांजलि दी है|बढ़िया प्रस्तुति|बापू के बन्दर खोये नहीं हैं सिर्फ आत्मचिन्तन की आवश्यकता है|

रचना दीक्षित said...

गाँधी जी को यह श्रधांजली अनूठी है. बधाई इस सुंदर प्रस्तुति के लिये.

Urmi said...

बहुत सुन्दर हाइगा ! बापू को मेरा शत शत नमन और विनम्र श्रद्धांजलि !