1125 HAIGAS PUBLISHED TILL TODAY(04.09.15)......आज तक(04.09.15) 1125 हाइगा प्रकाशित Myspace Scrolling Text Creator

यदि आप अपने हाइकुओं को हाइगा के रूप में देखना चाहते हैं तो हाइकु ससम्मान आमंत्रित हैं|

रचनाएँ hrita.sm@gmail.comपर भेजें - ऋता शेखर मधु

Thursday, 22 March 2012

अंतहीन रास्ते- हाइगा में

कैलाश सी शर्मा सर के हाइकुओं पर आधारित हाइगा







सारे चित्र गूगल से साभार

10 comments:

ANULATA RAJ NAIR said...

बहुत सुन्दर.....

कैलाश जी एवं आपको बहुत बधाई.
सस्नेह.

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' said...

बढ़िया रचनाएँ प्रस्तुत की है आपने!

दिगंबर नासवा said...

जीवन के लंबे सफर को छोटे छोटे हाइगा में उतारा है ... लाजवाब ...

रविकर said...

सराहनीय प्रस्तुति |
बहुत बहुत बधाई ||

Kailash Sharma said...

बहुत खूब! हाइकुओं को इतने सुंदर हाईगा में ढालने के लिये आभार..

मेरा मन पंछी सा said...

बहुत ही बढ़िया हाइकु है

S.M.HABIB (Sanjay Mishra 'Habib') said...

बहुत ही बढीया...

Dinesh pareek said...

बहुत बहुत धन्यवाद् की आप मेरे ब्लॉग पे पधारे और अपने विचारो से अवगत करवाया बस इसी तरह आते रहिये इस से मुझे उर्जा मिलती रहती है और अपनी कुछ गलतियों का बी पता चलता रहता है
दिनेश पारीक
मेरी नई रचना

कुछ अनकही बाते ? , व्यंग्य: माँ की वजह से ही है आपका वजूद: एक विधवा माँ ने अपने बेटे को बहुत मुसीबतें उठाकर पाला। दोनों एक-दूसरे को बहुत प्यार करते थे। बड़ा होने पर बेटा एक लड़की को दिल दे बैठा। लाख ...

http://vangaydinesh.blogspot.com/2012/03/blog-post_15.html?spref=bl

Rajendra Swarnkar : राजेन्द्र स्वर्णकार said...

‎.

♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥
नव संवत् का रवि नवल, दे स्नेहिल संस्पर्श !
पल प्रतिपल हो हर्षमय, पथ पथ पर उत्कर्ष !!
-राजेन्द्र स्वर्णकार
♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥

*चैत्र नवरात्रि और नव संवत २०६९ की हार्दिक बधाई !*
*शुभकामनाएं !*
*मंगलकामनाएं !*

Maheshwari kaneri said...

सभी बेहद खूबसूरत हैं..कैलाश जी एवं आपको बहुत बधाई.