1125 HAIGAS PUBLISHED TILL TODAY(04.09.15)......आज तक(04.09.15) 1125 हाइगा प्रकाशित Myspace Scrolling Text Creator

यदि आप अपने हाइकुओं को हाइगा के रूप में देखना चाहते हैं तो हाइकु ससम्मान आमंत्रित हैं|

रचनाएँ hrita.sm@gmail.comपर भेजें - ऋता शेखर मधु

Sunday, 18 March 2012

सिन्ड्रेला की कहानी-हाइगा में























सारे चित्र गूगल से साभार

14 comments:

रविकर said...

सुन्दर प्रस्तुति । आभार।।

ANULATA RAJ NAIR said...

वाह..वाह..वाह....
क्या बात है ऋता जी...

हाइगा में पूरी की पूरी कहानी..........
आपकी रचनात्मकता और मेहनत दोनों को सलाम..

सस्नेह.

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' said...

बहुत बढ़िया!

अशोक सलूजा said...

दिल से सुनाई,दिल तक पहुंची ....
सिन्ड्रेला की प्यारी कहानी !
मुबारक हो !
शुभकामनाएँ!

PBCHATURVEDI प्रसन्नवदन चतुर्वेदी said...

वाह...वाह...वाह...
सुन्दर प्रस्तुति.....बहुत बहुत बधाई...

PBCHATURVEDI प्रसन्नवदन चतुर्वेदी said...

वाह...वाह...वाह...
सुन्दर प्रस्तुति.....बहुत बहुत बधाई...

अनुपमा पाठक said...

वाह!

मेरा मन पंछी सा said...

very very nice....:-)

dilbag virk said...

सुंदर प्रयोग

खूबसूरत हाइगा

अरुण कुमार निगम (mitanigoth2.blogspot.com) said...

इस विधा के बारे में जानकारी नहीं थी, चित्रमय प्रस्तुति बढ़िया लगी.

सहज साहित्य said...

ॠता जी किसी कथा को हाइकु के माध्यम से प्रस्तुत करना कठिन है , फिर उसे हाइगा में परिवर्तित करना और भी कठिन । आपने भरसक सिण्ड्रेला के कथा -प्रसंग को परिश्रमपूर्वक उतारा है । बहुत-बहुत बधाई !

abhi said...

ये तो सच में सिन्ड्रेला की कहानी हो गयी हाईगा में..मेरी सभी छोटी बहनों को ये बहुत पसंद आएगा...अभी तुरत उन्हें मेल करता हूँ ये लिंक!! ;)

Dinesh pareek said...

आपकी सभी प्रस्तुतियां संग्रहणीय हैं। .बेहतरीन पोस्ट .
मेरा मनोबल बढ़ाने के लिए के लिए
अपना कीमती समय निकाल कर मेरी नई पोस्ट मेरा नसीब जरुर आये
दिनेश पारीक
http://dineshpareek19.blogspot.in/2012/04/blog-post.html

रश्मि प्रभा... said...

जादू की छड़ी
सिन्ड्रेला बनी
मधु की सहेली ...