1125 HAIGAS PUBLISHED TILL TODAY(04.09.15)......आज तक(04.09.15) 1125 हाइगा प्रकाशित Myspace Scrolling Text Creator

यदि आप अपने हाइकुओं को हाइगा के रूप में देखना चाहते हैं तो हाइकु ससम्मान आमंत्रित हैं|

रचनाएँ hindihaiga@gmail.com पर भेजें - ऋता शेखर मधु

Tuesday, 8 May 2012

तू आना मेरे देस मेरी लाडो - हाइगा में

सत्यमेव जयते देखने के बाद मेरी इच्छा हुई कि मैं भी बेटियों वाली एक पोस्ट डालूँ.यह पूर्व प्रकाशित है.आज मैं इसे पुन: प्रकाशित कर रही हूँ और इसे समर्पित कर रही हूँ उन सभी दादा- दादियों , माता- पिताओं और सभी घरों को जो बाहें फैला कर बेटियों का स्वागत करते हैं...वैसे मुझे ये नहीं मालूम है  बेटियों का सहर्ष स्वागत करने वाले कितने प्रतिशत घर हैं.

1 comment:

Ravi Ranjan said...

आपने बहुत सुन्दर हाइकु लिखे हैं, बिल्कुल आज की बेटियों को परिभाषित करते हुए| अब जमाना बदल चुका है फिर भी और सकारात्मक सोंच की आवश्यक्ता है|
अच्छे चित्रों के साथ सभी हाइगा सार्थक लग रहे हैं|