1125 HAIGAS PUBLISHED TILL TODAY(04.09.15)......आज तक(04.09.15) 1125 हाइगा प्रकाशित Myspace Scrolling Text Creator

यदि आप अपने हाइकुओं को हाइगा के रूप में देखना चाहते हैं तो हाइकु ससम्मान आमंत्रित हैं|

रचनाएँ hrita.sm@gmail.comपर भेजें - ऋता शेखर मधु

Friday, 25 May 2012

दिलबाग विर्क जी के हाइकु - हाइगा में

दिलबाग विर्क जी ने अपनी प्रकाशित पुस्तक'माला के मोती'मुझे भेंटस्वरूप भेजा है|मैंने इस पुस्तक की समीक्षा लिखी है|
प्रस्तुत है उसी पुस्तक के कुछ हाइकु, हाइगा के रूप में|
आभार...





सारे चित्र गूगल से साभार

8 comments:

सदा said...

सभी एक से बढ़कर एक हैं ... प्रस्‍तुति के लिए आभार ... दिलबाग विर्क जी को बधाई

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' said...

बहुत बढ़िया प्रस्तुति!
आपकी प्रविष्टी की चर्चा कल शनिवार के चर्चा मंच पर लगाई गई है!
चर्चा मंच सजा दिया, देख लीजिए आप।
टिप्पणियों से किसी को, देना मत सन्ताप।।
मित्रभाव से सभी को, देना सही सुझाव।
शिष्ट आचरण से सदा, अंकित करना भाव।।

PBCHATURVEDI प्रसन्नवदन चतुर्वेदी said...

वाह...सुन्दर भावपूर्ण प्रस्तुति...बहुत बहुत बधाई...

मेरा मन पंछी सा said...

बहुत ही बेहतरीन सभी सुन्दर संदेशप्रद...

Sanju said...

Very nice post.....
Aabhar!

abhi said...

बहुत अच्छे अच्छे हाईकू हैं!! :)

Kailash Sharma said...

बहुत खूब ! बहुत सुन्दर हाइकु और उनकी लाज़वाब हाइगा में प्रस्तुति...

dilbag virk said...

आभार................