1125 HAIGAS PUBLISHED TILL TODAY(04.09.15)......आज तक(04.09.15) 1125 हाइगा प्रकाशित Myspace Scrolling Text Creator

यदि आप अपने हाइकुओं को हाइगा के रूप में देखना चाहते हैं तो हाइकु ससम्मान आमंत्रित हैं|

रचनाएँ hindihaiga@gmail.com पर भेजें - ऋता शेखर मधु

Thursday, 15 September 2011

मुस्कान और प्यार

डॉ हरदीप कौर सन्धु जी के हाइकुओं पर आधारित हाइगा;
अगली प्रस्तुति में: डॉ शैल रस्तोगी जी










सारे चित्र गूगल से साभार

10 comments:

Dr.Bhawna said...

Bahut khub !

रविकर said...

साढ़े छह सौ कर रहे, चर्चा का अनुसरण |
सुप्तावस्था में पड़े, कुछ पाठक-उपकरण |

कुछ पाठक-उपकरण, आइये चर्चा पढ़िए |
खाली पड़ा स्थान, टिप्पणी अपनी करिए |

रविकर सच्चे दोस्त, काम आते हैं गाढे |
आऊँ हर हफ्ते, पड़े दिन साती-साढ़े ||

http://charchamanch.blogspot.com

Rachana said...

kitne sunder lag rahe hain me hamesha kahti hoon haiga haikuon ko saja deta hai
aap dono ko badhai
rachana

हिन्दी हाइकु said...

Rita ji,
aap ka kaam shlaghayog hai . bahut hi achche haiga bane hain...aapko bahut-bahut badhayee !

hardeep

ऋता शेखर 'मधु' said...

इमेल पर नीलू गुप्ता जी की टिप्पणी

आपके सभी हाइगा अत्यंत सराहनीय हैं .आपको बहुत बहुत बधाई .
नीलू गुप्ता
कैलिफोर्निया

सहज साहित्य said...

ॠता जी , हरदीप जी के मुस्कान , प्यार , अपनापन आदि के हाइकु उत्तम हैं ही ,आपने चित्र-संयोजन से इन्हें हाइगा बनाकर अपनी कलात्मक प्रतिभा का उदाहरण पेश कर दिया है । आप दोनों को हार्दिक बधाई!

Ravi Ranjan said...

आप जिस निःस्वार्थ भाव से उत्कृष्ट हाइकुकारों के हाइकु पर सजीवता भरे हाइगा बनाती हैं, यह देखकर मन अभिभूत हो जाता है|निःस्वार्थता अन्तरमन की भावना है, इसे सिखाया नहीं जा सकता... शुभकामनाएँ

KAHI UNKAHI said...

आप एक बहुत ही सराहनीय कार्य कर रही हैं...। सुन्दर प्रस्तुति पर मेरी बधाई...।

प्रियंका

हिन्दी हाइगा said...

इमेल पर अमिता कौंडल जी की टिप्पणी

रीता जी, हरदीप जी के हाइकु तो वैसे ही मन से बातें करते हैं और आपके हईगा ने तो उनमें जैसे प्राण डाल दिए हों .
बहुत सुंदर हईगा हैं
सादर,
अमिता कौंडल

Rama said...

डा. हरदीप जी के हाइकु और ऋता जी का चित्र संयोजन मन से बाते करते हैं ...बहुत खूब ...बधाई .