1125 HAIGAS PUBLISHED TILL TODAY(04.09.15)......आज तक(04.09.15) 1125 हाइगा प्रकाशित Myspace Scrolling Text Creator

यदि आप अपने हाइकुओं को हाइगा के रूप में देखना चाहते हैं तो हाइकु ससम्मान आमंत्रित हैं|

रचनाएँ hindihaiga@gmail.com पर भेजें - ऋता शेखर मधु

Sunday, 14 October 2012

महाल्या के शुभ अवसर पर रश्मिप्रभा जी के हाइकु पहली बार - हाइगा में

या देवी सर्वभूतेषु शक्तिरूपेण संस्थिता...नमस्तस्यै, नमस्तस्यै, नमस्तस्यै नमो नमः!!

शारदीय नवरात्र के शुभ अवसर पर आ० रश्मिप्रभा जी के हाइकुओं पर हाइगा बनाने का सुअवसर प्राप्त हुआ, इसके लिए हार्दिक आभार!!!














सारे चित्र गूगल से साभार




26 comments:

Anju (Anu) Chaudhary said...

इतनी खूबसूरत प्रस्तुति के लिए आपका दिल से आभार ......हर हाइगा बेहद खूबसूरत ..

Anita said...

अद्भुत ! महालया के शुभ अवसर पर देवी के इन सुंदर रूपों का दर्शन करके मन-प्राण रोमांचित हो गए, रश्मि जी को सादर नमन इस सुंदर पोस्ट के लिए..

आशा जोगळेकर said...

सुंदर प्रस्तुति महालया पर ।

Maheshwari kaneri said...

रश्मि जी की हाइकु और तुम्हारा हाइगा दोनों की बहुत सुन्दर जुगलबंधी रही बहुत सटीक ताल मेल ..

Kailash Sharma said...

बहुत भक्तिमय हाइकु...लाज़वाब हाइगा प्रस्तुतीकरण..जय माता दी..

Vibha Rani Shrivastava said...

रश्मि जी जिस विधा को छू दें ,वही अनोखी हो जाती है .... उसमें आप का साथ चार चाँद लगा दिया है .... !!

संध्या शर्मा said...

बहुत सुन्दर भक्तिमय लाज़वाब प्रस्तुतीकरण...जय माता दी...

रश्मि प्रभा... said...

मेरी अर्चना
तुम्हारी स्तुति
महाल्या का शुभ आरम्भ

Archana said...

बहुत सुन्दर हायकू भी और हाइगा भी ...
नमस्तस्यै नमो नम:...

Rama said...

नव रात्रि के भक्ति रस से सराबोर हो गए रश्मि जी हाइकु पढ़कर ..लाजवावब चित्र और हाइकु दोनों भी .....
डा .रमा द्विवेदी

expression said...

बहुत सुन्दर ऋता जी ......
रश्मि दी का सृजन और आपका श्रुंगार ...
सोने पे सुहागा....

नवरात्र की अग्रिम मंगलकामनाएं !!!
सस्नेह
अनु

सतीश सक्सेना said...

मातृशक्ति के इतने रूप ...
बधाई आप दोनों को !

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

बहुत सुंदर .... देवी के हर रूप का विवरण ...सुंदर और सटीक

शिवम् मिश्रा said...

जय हो ... :)

Sadhana Vaid said...

दिव्य सन्देश प्रसारित करते भावपूर्ण हाईकू अत्यंत सुन्दर चित्रों की पृष्ठभूमि पा अलौकिक हाइगा बन गये ! रश्मिप्रभा जी की लेखनी और ॠता शेखर जी के चयनित चित्रों ने मंत्रमुग्ध कर दिया ! दोनों का ही आभार इस अनमोल प्रस्तुति के लिये ! मन असीम श्रद्धा से भर गया !

Ramakant Singh said...

खूबसूरत प्रस्तुति के लिए आपका आभार बेहद खूबसूरत

Saras said...

रश्मिजी क्या कहूं.......साक्षात् माता के दर्शन करा दिए आपने ...हर हाइकू बहुत सुन्दर . .....!

Saras said...

रश्मिजी क्या कहूं.......साक्षात् माता के दर्शन करा दिए आपने ...हर हाइकू बहुत सुन्दर . .....!

Mukesh Kumar Sinha said...

ya devi sarva bhuteshu .....
:)... devi ke roop ko do deviyon ne (oh do didiyon ne) aur jayda mahimamandit kar diya:))

सदा said...

भक्ति में लीन ... सचमुच
हर भाव हर प्रस्‍तुति नि:शब्‍द करती हुई
मां का आगमन
मन को सदा ही हर्षमय
कर देता है
सादर

रवीन्द्र प्रभात said...

बहुत सटीक और बेहद लाज़वाब !

डॉ. जेन्नी शबनम said...

सभी हाइगा बहुत खूबसूरत। रश्मि जी और आपको बहुत बधाई।

ऋता शेखर मधु said...

आप सबों का हार्दिक आभार!!
नवरात्र की मंगलकामनाएँ!!

Dheerendra singh Bhadauriya said...

बेहतरीन हाइकू के लिये रश्मी प्रभा जी और उत्कृष्ट हाइगा के लिये आपको बहुत बहुत बधाई,,शुभकामनाए,
नवरात्र की ढेर सारी मंगलकामनाएँ,,,,

RECENT POST ...: यादों की ओढ़नी

आशा बिष्ट said...

सुन्दर हायगा... हर रूप को निरुपित करते हुए .
बहुत बहुत बधाईया...

abhi said...

वाह दीदी...कमाल हो गया...रश्मि जी+आप और दुर्गा पूजा का माहौल...:) :)