1125 HAIGAS PUBLISHED TILL TODAY(04.09.15)......आज तक(04.09.15) 1125 हाइगा प्रकाशित Myspace Scrolling Text Creator

यदि आप अपने हाइकुओं को हाइगा के रूप में देखना चाहते हैं तो हाइकु ससम्मान आमंत्रित हैं|

रचनाएँ hindihaiga@gmail.com पर भेजें - ऋता शेखर मधु

Tuesday, 18 October 2011

ओस की बूँद

शरद का आगमन हो रहा है|खुले आकाश के नीचे ओस की बूँदें टपक-टपक कर गुलाबी ठंढ का स्वागत कर रही हैं| हाइगा में हम स्वागत करते हैं इन बूँदों का...






चित्र गूगल से साभार

10 comments:

Ravi Ranjan said...

वाह!बहुत सुन्दर प्रस्तुति|

रविकर said...

बहुत बढ़िया प्रस्तुति ||

बधाई स्वीकारें ||

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

इस प्रविष्टी की चर्चा कल बुधवार के चर्चा मंच पर भी की जा रही है!
यदि किसी रचनाधर्मी की पोस्ट या उसके लिंक की चर्चा कहीं पर की जा रही होती है, तो उस पत्रिका के व्यवस्थापक का यह कर्तव्य होता है कि वो उसको इस बारे में सूचित कर दे। आपको यह सूचना केवल इसी उद्देश्य से दी जा रही है! अधिक से अधिक लोग आपके ब्लॉग पर पहुँचेंगे तो चर्चा मंच का भी प्रयास सफल होगा।

दिलबाग विर्क said...

सुंदर प्रस्तुति

सुरेन्द्र सिंह " झंझट " said...

सभी 'हाइगा'......गागर में सागर समेटती

कुमार राधारमण said...

चित्र और हाइकु- दोनों इतने पूरक प्रतीत होते हैं कि एक के बिना दूसरा स्थूल-सा होता।

Babli said...

ख़ूबसूरत तस्वीरों के साथ आपने लाजवाब हाइगा प्रस्तुत किया है! ज़बरदस्त प्रस्तुती!
मेरे नए पोस्ट पर आपका स्वागत है-
http://ek-jhalak-urmi-ki-kavitayen.blogspot.com/
http://seawave-babli.blogspot.com

जयकृष्ण राय तुषार said...

बहुत ही सुन्दर ब्लॉग रिता जी बहुत -बहुत बधाई और शुभकामनाएं |ब्लॉग पर आने हेतु आभार

सहज साहित्य said...

बहुत सुन्दर प्रस्तुति ॠता जी !

amrendra "amar" said...

बहुत सुन्दर प्रस्तुति, आभार