1125 HAIGAS PUBLISHED TILL TODAY(04.09.15)......आज तक(04.09.15) 1125 हाइगा प्रकाशित Myspace Scrolling Text Creator

यदि आप अपने हाइकुओं को हाइगा के रूप में देखना चाहते हैं तो हाइकु ससम्मान आमंत्रित हैं|

रचनाएँ hrita.sm@gmail.comपर भेजें - ऋता शेखर मधु

Sunday, 9 October 2011

जल्दी आना बिटिया

कमला निखुर्पा जी के हाइकुओं पर आधारित हाइगा










सारे चित्र गूगल से साभार

9 comments:

डॉ. जेन्नी शबनम said...

bahut khoobsurat haaiga. Kamla ji aur Rita ji ko badhai.

Dr.Bhawna said...

Bahut sundar haiku chitron se or bhi jayada khubsurat ban pade..bahut2 badhai

हिन्दी हाइगा said...

Amita Kaundal said...
ऋता जी बहुत सुंदर हईगा हैं. आपके पहाड़ी राहों वाले हईगा ने तो मुझे मेरे हिमाचल की याद दिला दी. कमला जी व् आपको हार्दिक बधाई
सादर,
अमिता कौंडल

प्रियंका गुप्ता said...

बहुत अच्छे हाइगा हैं...मेरी बधाई...।

रविकर said...

बहुत सुन्दर प्रस्तुति ||
बधाई स्वीकार करें ||

Rama said...

डा.रमा द्विवेदी

कमला जी के हाइकु और ऋता जी के चित्रों ने बहुत सुन्दर समां बांधा है ....दोनों को बहुत बधाई .....

dilbag virk said...

सुंदर हाइगा
अंतिम हाइगा में चित्र और शब्द एक ही रंग के हैं, शब्द अगर अलग रंग के होते तो शायद ज्यादा उभरते

सहज साहित्य said...

नेह बन्धन और सिन्धु छलके शीर्षक के हाइकु तो हिन्दी काव्यजगत की अमूल्य निधि हैं। लिखे हुए नही आत्मा में रचे बसे , चाँदनी से धुले । अपने आप में किसी चित्र से कम नहीं । फिर चित्र नया रूप देw गए ।

Shabad shabad said...

कमला जी के हाइकु तो सुंदर हैं ही ऋता जी के चित्रों नए और सुंदर बना दिए |
दोनों को बहुत बधाई !
हरदीप